वृष्टि परीक्षण १४ जून से लेकर १२ जुलाई तक आषाढ़ मास है। यह मास वर्षा ऋतु का प्रथम मास है। यदि इस मास में मानसूनी वृष्टि न हो, तो सूखा पड़ने का खतरा उत्पन्न हो जाता है। आचार्यों ने इस मास में पाँच प्रकार से वृष्टि परीक्षण करके सुनिश्चित किया कि कितनी वृष्टि होगी? एक.. read more →